Zindademocracy

विरोध मार्च कर रहे राहुल गाँधी-प्रियंका गाँधी समेत कई अन्य पुलिस की हिरासत में पुलिस बोली, ' बिना इजाज़त कर रहे थे प्रदर्शन '

नई दिल्ली | महंगाई और बेरोजगारी के खिलाफ कांग्रेस का संसद से लेकर राष्ट्रपति भवन तक विरोध प्रदर्शन छिड़ा हुआ है। पार्टी के तमाम नेताओं ने आज प्रोटेस्ट मार्च का नेतृत्व किया। इस मार्च में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी भी शामिल हुए। पार्टी के सभी नेताओं मे काले कपड़ों में सरकार के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया। इस बीच, बिना इजाजत प्रदर्शन करने के आरोप में दिल्ली पुलिस ने कांग्रेस सांसद राहुल गांधी समेत कई कांग्रेस नेताओं को हिरासत में ले लिया।

हिरासत में लिए जाने पर राहुल गांधी ने कहा – ‘हम शांति से राष्ट्रपति भवन जाना चाहते थे। रैली में सभी लोग राज्यसभा और लोकसभा के सांसद हैं। मगर हमें जाने की इजाजत नहीं दी जा रही है। महंगाई और बेरोजगारी के मुद्दों को लेकर हम यहां मौजूद हैं। लोकतंत्र की हत्या हो रही है। कुछ सांसदों को हिरासत में ले लिया गया है। उन्हें पीटा भी गया है। हमारा काम ये सुनिश्चित करना है कि भारतीय लोकतंत्र सुरक्षित हो। हमारा काम जनता के मुद्दों को उठाना है और हम अपना काम कर रहे हैं।’

पुलिस बोली, ‘ बिना इजाज़त कर रहे थे प्रदर्शन ‘

राहुल गांधी को हिरासत में लिए जाने पर नई दिल्ली की DCP अमृता गुगुलोथ ने बताया – ‘हमने उनको हिरासत में लिया है। क्योंकि यहां धारा 144 लागू है और धरना प्रदर्शन करने की अनुमति नहीं है। हमने उनको सूचित भी किया था। लेकिन वे नहीं माने। इसलिए हमने उनको हिरासत में लिया है। विरोध प्रदर्शन के दौरान हिरासत में लिए गए कांग्रेस सांसद

दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा – ‘हम महंगाई और बेरोजगारी पर आवाज उठाना चाहते हैं। ये सरकार नौजवानों के भविष्य को बिगाड़ने का काम कर रही है। आज देश में महंगाई और बेरोजगारी को लेकर हम आवाज उठाना चाहते हैं, लेकिन हमें निशाने पर ले रहे हैं।’

प्रियंका गांधी भी दिल्ली पुलिस की हिरासत में
वहीं, पुलिस ने कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा को भी दिल्ली में AICC मुख्यालय के बाहर से हिरासत में ले लिया। यहां वे बेरोजगारी और महंगाई को लेकर पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं के साथ विरोध प्रदर्शन में शामिल हुई थीं।

इस दौरान उन्होंने कहा – ‘केंद्र सरकार को लगता है कि विपक्ष में जो भी है. उनको दबाया जा सकता है। उनको लगता है कि अपनी फौज दिखाने के बाद हम समझौता करे लेंगे। इनके मंत्री कहते हैं कि महंगाई नहीं है। हम प्रधानमंत्री आवास तक जाकर महंगाई दिखाना चाहते हैं। उनके लिए मंहगाई नहीं है। क्योंकि मोदी जी ने पूरे देश की संपत्ति अपने दोस्तों को दे दी है। उन पर कोई कार्रवाई नहीं है। 2-4 लोग रईस हो गए हैं। लेकिन आम जनता तड़प और तरस रही है। उनको महंगाई इसलिए नहीं दिखती, क्योंकि उनके पास पैसा ही पैसा है। सब चीज़ें महंगी हो चुकी हैं।’

 

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on telegram
Telegram
Trending