Zindademocracy

कानपूर पुलिस के कप्तान ने काउंटिंग वाले दिन गड़बड़ी करने वाले को देखते ही गोली मारने का दिया आदेश मतगणना के दिन किसी भी तरह की गड़बड़ी या हेरा - फेरी न हो इसके लिए कानपूर पुलिस के कप्तान ने सख्त आदेश जारी किया है।

उत्तर प्रदेश | उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के नतीजे सामने आने की तारिख जैसे जैसे पास आती जा रही है, वैसे वैसे उम्मीदवारों के दिल की धड़कने भी तेज़ होती जा रही हैं। कल यानी 10 मार्च को साफ़ हो जाएगा की जनता के दिल में जगह बनाने में कौन कामयाब हुआ है। मतगणना के लिए पुलिस प्रशासन भी तैनात नज़र आ रहा है। मतगणना के दिन किसी भी तरह की गड़बड़ी या हेरा – फेरी न हो इसके लिए कानपूर पुलिस के कप्तान ने सख्त आदेश जारी किया है।

कानपूर पुलिस प्रशासन की ओर से मतगणना वाले दिन किसी भी तरह का उत्पात मचाने वाले को देखते ही गोली मारने का आदेश दिया गया है। काउंटिंग वाले दिन किसी भी तरह की गड़बड़ी करने वाले को देखते ही गोली मार देने के आदेश की ये खबर इस वक़्त खूब ज़ोर पकड़ रही है। इस बयान से साफ़ जाहिर होता है की कानपूर का पुलिस प्रशासन मतगणना को लेकर किस तरह से तैनात खड़ा है।

अक्सर ऐसा होता है कि किसी पार्टी के अध्यक्षों और उम्मीदवारों द्वारा दूसरी पार्टी पर EVM से छेड़खानी करने का आरोप लगाया जाता है। अभी हाल ही की बात है जब सपा अध्यक्ष ने वाराणसी में भाजपा पर EVM से छेड़खानी करने का आरोप लगाया था। सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने कहा था कि चुनाव में धांधली की कोशिश की जा रही है। बनारस में ईवीएम से लदी तीन गाड़ियां पकड़ी गई थीं। दो गाड़ियां निकल गईं, लेकिन एक को सपा के कार्यकर्ताओं ने पकड़ लिया। इस पर चुनाव आयोग ने उन्हें जवाब देते हुए कहा कि, वाराणसी में गाड़ी से बरामद की गई EVM मशीनें अधिकारियों के लिए मतगणना की ट्रेनिंग के मकसद से लाई गई थीं। इन मशीनों का मतदान में इस्तेमाल नहीं किया गया।

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on telegram
Telegram
Trending