Zindademocracy

उत्तराखंड चुनाव 2022: श्रीनगर में पीएम मोदी की विजय संकल्प सभा, कहा-‘मैं दिल्ली में होता था, लेकिन मेरा मन उत्तराखंड के लिए भागता था’ उत्तराखंड विधानसभा चुनाव नज़दीक है, ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तराखंड के श्रीनगर में विजय संकल्प सभा को संबोधित किया,

उत्तराखंड | उत्तराखंड विधानसभा चुनाव नज़दीक है, ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तराखंड के श्रीनगर में विजय संकल्प सभा को संबोधित किया, उन्होंने कहा कि, जब वर्चुअल रैली होती है और पिछले दिनों वर्चुअल रैली के माध्यम से आपसे मिलता तो था। मैं दिल्ली में होता जरूर था, लेकिन मेरा मन उत्तराखंड के लिए ही भागता था. जब मनोरथ सच्चा हो तो बाबा केदारनाथ और बद्रीनाथ जी सच्ची इच्छा को पूरा कर ही देते हैं।

उनके आशीर्वाद से चुनाव आयोग ने भी और मौसम ने भी मुझे आपके बीच आने और आपके दर्शन करने का सौभाग्य दिया. कल ही उत्तराखंड भाजपा ने अपना संकल्प पत्र जारी किया है. ये संकल्प पत्र, इस दशक को उत्तराखंड का दशक बनाने में बड़ी भूमिका निभाएगा. इसमें उत्तराखंड के विकास के लिए, यहां के युवाओं, महिलाओं, किसानों, सभी के लिए नए संकल्प लिए गए हैं।

हर नागरिक जानता है कि मेरा इस देवभूमि से नाता क्या है: PM
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि, उत्तराखंड का हर नागरिक जानता है कि मेरा इस देवभूमि से नाता क्या है,मेरा लगाव कितना है. 2019 में चुनाव का आखिरी दौर चल रहा था, मैं खुद काशी से चुनाव लड़ रहा था, वहां मतदान होना था, लेकिन बाबा केदार ने मुझे पुकारा और मैं यहां चला आया था. ये देवभूमि के प्रति मेरी भक्ति और लगाव है।

यहां से सदा सर्वदा एक ऊर्जा और प्रेरणा मिलती है। उत्तराखंड के लोगों ने हमेशा सजग प्रहरी की तरह देश की रक्षा की है. आज पौड़ी गढ़वाल के ऐसे ही वीर सपूत जनरल बिपिन रावत जी की स्मृतियां मुझे भावुक कर रही हैं. उन्होंने देश का दिखाया कि उत्तराखंड के लोगों के पास न केवल पहाड़ जैसा साहस होता है बल्कि हिमालय जैसी ऊंची सोच भी होती है।

किसानों के देंगे बेहतर सुविधा-
पीएम मोदी ने कहा कि मेरे मन में एक गहरी तकलीफ़ भी है. मुझे ये ज़िक्र इसलिए भी करना पड़ रहा है क्योंकि कांग्रेस पार्टी अपने प्रचार में जनरल बिपिन रावत जी के कट आउट लगाकर, उनकी फोटो लगाकर वोट मांग रही है. कुर्सी के लिए कोई इस सीमा तक जा सकता है, मुझे विश्वास ही नहीं हो रहा। पीएम मोदी ने कहा कि. उत्तराखंड की धरोहर को बचाने और यहां हेरिटेज टूरिज्म को गांव गांव पहुंचाने पर भी जोर है। मैं धामी जी और उत्तराखंड भाजपा की पूरी टीम को बहुत बहुत शुभकामनाएं देता हूं. इसमें गरीब बहनों को ताकत देने का समाधान है. इसमें जिला मेडिकल कॉलेज या उसके जैसी सुविधा देने का संकल्प है. कृषि भूमि सर्वेक्षण और बीमा में नई ड्रोन नीति लागू करके यहां के किसानों को बेहतर सुविधा मिलेगी।

सेना का भी किया ज़िक्र-
प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि, उत्तराखंड के लोग कभी भूल नहीं सकते, सेना को लेकर इन लोगों का रवैया क्या रहा है. जब भारत के वीरों ने आतंकी अड्डों पर सर्जिकल स्ट्राइक की थी, तो ये लोग सेना पर सवाल उठा रहे थे. दिल्ली के कुछ नेताओं ने तो बाकायदा टीवी पर आकर सेना से सबूत मांगे थे. इन लोगों ने जनरल रावत को देश का पहला सीडीएस बनाए जाने पर भी खूब सियासत की थी. इसी कांग्रेस पार्टी के नेता ने बिपिन रावत जी को सड़क का गुंडा तक कह डाला था. ये है देश के सैनिकों के लिए इन लोगों की नफरत. आज अगर वोट के लिए ये लोग जनरल रावत का सियासी इस्तेमाल करना चाह रहे हैं, तो उन्हें जवाब देने की जिम्मेदारी उत्तराखंड के लोगों की है।

वन रैंक वन पेंशन को लेकर झूठ बोला: PM
पीएम मोदी ने कहा कि इतने सालों तक ये सत्ता में थे, लेकिन ‘वन रैंक वन पेंशन’ को लेकर झूठ बोलते रहे. ये हमारी ही सरकार है जिसने ‘वन रैंक, वन पेंशन’ की व्यवस्था लागू की. ये भी भाजपा सरकार ही है, जो देहरादून में उत्तराखंड के शहीदों के सम्मान में ‘सैन्य धाम’ बना रही है. इन पांच सालों में उत्तराखंड में डबल इंजन की सरकार ने इतना काम किया है कि अब ब्रेक लगाने वालों को भी वही वादे करने पड़ रहे हैं जो भाजपा की सरकार ने काम करना शुरू कर दिया है।

प्रधानमंत्री ने कहा कि केदार धाम में हमने 2017 में पुनर्विकास के काम शुरू किए थे और ज्यादातर परियोजनाएं पूरी भी हो गई है. बद्रीनाथ धाम के विकास के लिए भी कईं सौ करोड़ की लागत से प्रोजेक्ट शुरू किया गया है. चारधाम प्रोजेक्ट के तहत 12 हजार करोड़ की लागत से ऑल वेदर रोड बनाई जा रही है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी की एक ही पहचान है… सत्ता आती है तो इनका भ्रष्टाचार बेलगाम हो जाता है, और सत्ता जाती है तो बुरी तरह बौखला जाते हैं. पिछले दस सालों से लोकसभा में उत्तराखंड के लोग इन्हें शून्य दे रहे हैं, ज़ीरो. विधानसभा में भी पांच साल से ये सत्ता से बाहर हैं।

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on telegram
Telegram
Trending