Zindademocracy

Bulli Bai App Case: मुंबई पुलिस को ‘बुली बाई’ ऐप केस में मिली पहली सफलता, 21 वर्षीय इंजीनियर बेंगलुरु से किया गिरफ्तार

मुंबई: मुस्लिम महिलाओं को निशाना बनाने वाले ‘बुली बाई’ ऐप जिसमे मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरें ‘नीलामी’ के लिए डाली जा रही थी इस मामले में मुंबई पुलिस ने सोमवार को अपने एक बयान में कहा है कि, ऐप के सिलसिले में बेंगलुरु से एक 21 वर्षीय व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है. इस ऐप पर सैकड़ों मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरें ‘नीलामी’ के लिए डाली गई हैं जिनमें कुछ प्रतिष्ठित नाम भी शामिल हैं।

समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक, पुलिस ने संदिग्ध की पहचान का खुलासा नहीं किया है, जो कि बेंगलुरु में सिविल इंजीनियरिंग के द्वितीय वर्ष का छात्र है, अज्ञात दोषियों के खिलाफ भारतीय दंड संहिता और सूचना प्रौद्योगिकी अधिनियम की संबंधित धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।

बता दे, इस मामले की शुरुवाती जांच में मुंबई पुलिस ने मोबाइल ऐप ‘बुली बाई’ बनाने वालों के बारे में गिटहब प्लेटफॉर्म से जानकारी हासिल की साथ ही और ऐप के बारे में सबसे पहले पोस्ट करने वाले शख्स के बारे में ट्विटर से जानकारी मांगी है। अधिकारियों ने कहा कि, दिल्ली पुलिस ने ट्विटर से ‘बुली बाई ऐप’ से साझा की गई किसी भी ‘आपत्तिजनक सामग्री’ को उसके प्लेटफॉर्म से हटाने और उस पर रोक लगाने को भी कहा है।

महाराष्ट्र के गृह राज्य मंत्री सतेज पाटिल ने दी जानकारी-
महाराष्ट्र के गृह राज्य मंत्री (शहरी) सतेज पाटिल ने कहा कि फिलहाल बहुत अधिक विवरण नहीं दिए जा सकते क्योंकि इससे चल रही जांच में बाधा आ सकती है. उन्होंने कहा, “मैं सभी पीड़ितों को आश्वस्त करना चाहता हूं कि हम अपराधियों का सक्रिय रूप से पीछा कर रहे हैं और वे बहुत जल्द कानून का सामना करेंगे.”

सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने बताया-
ऐप बनाने में शामिल लोगों के खिलाफ कार्रवाई की बढ़ती मांग और आक्रोश उपजने के बाद सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने रविवार को कहा कि, सरकार दिल्ली और मुंबई में पुलिस के साथ काम कर रही है जहां इस संबंध में मामले दर्ज किये गये हैं. उन्होंने कहा कि गिटहब ने ऐप को अपलोड करने वाले उपयोगकर्ता को ब्लॉक कर दिया है और साइबर सुरक्षा पर देश की नोडल एजेंसी ‘कम्प्यूटर आपातकालीन प्रतिक्रिया दल’ (सीईआरटी) और पुलिस मिलकर आगे की कार्रवाई पर सलाह-मशविरा कर रहे हैं।

दिल्ली पुलिस ने ट्विटर को लिखा पत्र
राष्ट्रीय महिला आयोग ने भी दिल्ली पुलिस को पत्र लिखकर ऐप से संबंधित मामले में कार्रवाई तेज करने को कहा था ताकि इस तरह के अपराध फिर नहीं हों। दिल्ली पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी ने सोमवार को कहा, “मामले में जारी जांच के तहत हमने ट्विटर को पत्र लिखकर उस अकाउंट हैंडल के बारे में जानकारी मांगी है, जिसने सबसे पहले ‘बुली बाई’ ऐप के बारे में ट्वीट किया था.” उन्होंने कहा, “यह पता लगाने के लिए ऐसा किया जा रहा है कि, संबंधित लोग उस ऐप से कैसे जुड़े जिसमें एक समुदाय विशेष की महिलाओं के बारे में आपत्तिजनक बातें लिखी जा रही हैं.”

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on telegram
Telegram
Trending