Zindademocracy

बदायूँ पुलिस को मिली बड़ी कामयावी, मनोहर हत्या काँड़ में तीन गिरफतार बदायूं में मनोहर हत्याकांड में 3 गिरफ्तार, प्रधान को फंसाने के लिए हिस्ट्रीशीटर ने की थी हत्या |2 मार्च को खेत में खून से लथपथ मिली थी लाश।

उत्तर प्रदेश | बदायूं में दो मार्च को युवक की गोली मारकर हत्या की वारदात का पुलिस ने सोमवार को वर्कआउट करने का दावा किया है। पुलिस ने तीन आरोपियों को पकड़ा है इनमें एक हिस्ट्रीशीटर भी शामिल है। पुलिस के मुताबिक, वारदात की वजह हिस्ट्रीशीटर व गांव के प्रधान की रंजिश हुई थी। प्रधान को फंसाने की साजिश में हिस्ट्रीशीटर ने इस घटना को अंजाम दिया था। वारदात में प्रयुक्त तमंचा भी बरामद कर लिया है।

उघैती थाना क्षेत्र के ग्राम रियोनाई गांव के रहने वाले मनोहर पाल (30) की दो मार्च की रात हत्या कर दी गई थी। वारदात उस वक्त हुई, जब मनोहर अपने खेत की रखवाली करने गया था। जबकि उसकी लाश दूसरे दिन पगडंडी पर पड़ी मिली थी। परिजनों ने किसी से रंजिश की बात से इंकार किया तो पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा कायम कर लिया गया था ।पुलिस की जांच में हिस्ट्रीशीटर प्रेमपाल उर्फ चौधरी का नाम सामने आया है। आरोपी ने पूछताछ में हत्याकांड को अंजाम देने की बात कबूली। यह भी बताया कि गांव के प्रधान खुशीराम शाक्य से उसकी रंजिश चल रही थी।इसलिए उसने साजिश रची थी।

इसके तहत मनोहर पाल को रात में खेत पर घेरा और उससे परिजनों को फोन कराया कि खुशीराम समेत उसके साथियों ने अपहरण कर लिया है और हत्या कर देंगे। इसके बाद उसकी हत्या कर दी गई। वारदात में सत्यपाल निवासी गांव खंडवा व भवीपुर गांव का भारत के अलावा खंडवा का रूपराम भी शामिल था रूपराम फिलहाल पुलिस के हाथ नहीं लगा है। जो गिरफतार करने वाली पुलिस को एस एस पी ने 15000 रुपये का इनाम दिया है । हिस्ट्री सीटर प्रेम पाल पर लूट . हत्या डकैती जैसी 23 मुकद्दमें दर्ज है

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on telegram
Telegram
Trending