Zindademocracy

Bulli Bai App Case: “बुली बाई” ऐप मामले में 3 गिरफ्तार, मुंबई कमिश्नर ने किया बड़ा खुलासा, कहा-‘खास समाज की महिलाऐं थी निशाना’ मुंबई पुलिस ने 3 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले में बुधवार को मुंबई के कमिश्नर ऑफ पुलिस हेमंत नगराले ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में मामले की जानकारी दी।

मुंबई: “बुली बाई” ऐप में मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरें अपलोड कर उनकी बोली लगाने के मामले में मुंबई पुलिस ने 3 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले में बुधवार को मुंबई के कमिश्नर ऑफ पुलिस हेमंत नगराले ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में मामले की जानकारी दी। मुंबई के कमिश्नर ने इस मामले में कुछ एहम जानकारी भी दी है।

मीडिया को संबोधित करते हुए हेमंत नगराले ने कहा कि, ‘इस मामले को लेकर अब तक कई अफवाहें फैल रही हैं. मुंबई पुलिस ने अब तक इस मामले में क्या कारवाई की है उस बारे में जानकारी देने के लिए हमने यह PC रखी है. हम इस बारे में आपको सारी जानकारियां नहीं दे पाएंगे. लेकिन जो बताने लाएक है, वो जरूर बताएंगे. सारी जानकारियां इसलिए नहीं दे पाएंगे क्योंकि इससे जांच पर असर पड़ सकता है.’

एक महिला समेत 2 युवक गिरफ्तार-
हेमंत नगराले ने बताया कि, अब तक इस मामले में तीन गिरफ्तारियां हो चुकी हैं. उन्होंने कहा कि, ‘अब तक इस मामले में हमने 3 आरोपियों अरेस्ट किया है. इनके नाम मयंक रावत , विशाल झा और श्वेता सिंह है. मयंक रावत और श्वेता सिंह को उत्तरखण्ड और विशाल कुमार झा को हमने बंगलौर से अरेस्ट किया है. मुख्य आरोपी श्वेता सिंह है. विशाल कुमार झा 22 साल का है।

खास समाज की महिलाओं को बदनाम करना था उपदेश: पुलिस आयुक्त
मुंबई के पुलिस आयुक्त ने कहा कि, ‘इंटरनेट पर बुल्ली बाई ऐप तैयार किया गया. इस ” बुली बाई ” ऐप का ट्वीटर पर भी अकाउंट था. इसके फ्रंट पेज पर क्लिक कर के इसे ओपन किया जा सकता है। इस ऐप को बनाने के पीछे मोडस ऑपरेंडी कुछ खास समाज की महिलाओं को बदनाम करना था। ऐप पर उनके फोटो अपलोड किए जाते और उन पर एक मैसेज लिखा जाता है ताकि उनकी भावनाओं को ठेस पहुंचाई जा सके।

31 तारीख को ऐप हुआ था डेवलप-
हेमंत नगराले ने बताया कि, यह ऐप 31 तारीख को डेवेलप किया गया. 2 तारीख को FIR दर्ज की गई. श्वेता सिंह की 5 दिन की और विशाल झा की 7 दिन की पुलिस कस्टडी मिली है. इसमें और भी लोग शामिल हो सकते हैं. यह ऐप किस साजिश का हिस्सा है, और कौन-कौन से लोग इससे जुड़े हैं, इसकी तहकीकात की जा रही है।

हेमंत नगराले ने कहा कि, ‘इस मामले में जो लोग मुंबई पुलिस को और अधिक जानकारी देना चाहते हैं, वे लोग सामने आएं. वे हमारी वेबसाइट पर जानकारी दे सकते हैं. या फिर पुलिस थाने आकर भी वे मुंबई पुलिस से अपनी जानकारियां शेयर कर सकते हैं।

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on telegram
Telegram
Trending