Zindademocracy

कोरोना के इलाज के लिए फाइजर की दवा Paxlovid के हैं साइड इफेक्ट्स? देखें क्या बोले एक्सपर्ट

ओमिक्रॉन वैरिएंट के सामने आने के बाद दुनियाभर के कई देशों में कोरोना संक्रमण की रफ्तार में कई गुना तेजी हुई है। ऐसे में कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में फाइजर की पैक्सलोविड टैबलेट को भी बीते दिनों मंजूरी मिल गई है। अमेरिका के फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन ने बुधवार को फाइजर की इस गोली के इस्तेमाल को हरी झंडी दिखाई। इस दवा को अस्पताल में भर्ती होने से पहले घर पर लिया जा सकता है। हालांकि बीते कुछ दिनों से इस दवा को लेकर कई तरह की रिपोर्ट्स सामने आ रही हैं। इन रिपोर्ट्स की माने तो इस नई दवा के साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं।

क्या कहती हैं रिपोर्ट्स 

एनबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक विशेषज्ञों ने हाल ही में बताया कि गोली कुछ जोखिम भरे साइड इफेक्ट के साथ आ सकती है। एंटीवायरल कॉकटेल में दो दवाओं में से एक स्टैटिन है, जो ब्लड थिनर और कुछ एंटीडिपेंटेंट्स सहित व्यापक रूप से इस्तेमाल की जाने वाली दवाओं के साथ गंभीर बन सकती है।

 

अन्य दवाओं के साथ लेने पर हो सकती है जानलेवा

रिपोर्ट्स के मुताबिक विशेषज्ञों ने कहा है कि कोविड के खिलाफ एंटीवायरल गोलियां, सभी के लिए सुरक्षित नहीं हो सकती हैं। डॉक्टरों और फार्मासिस्टों ने गोलियों का बारीकी से विश्लेषण करने के बाद, उन्होंने निष्कर्ष निकाला कि अन्य दवाओं के साथ लेने पर ये गोलियां जानलेवा हो सकती हैं।

 

लिवर और किडनी के मरीजों न लेने की सलाह

रिपोर्ट्स के मुताबिक फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन ने कहा कि गंभीर किडनी और लिवर की बीमारी वाले लोगों को यह देवा लेनें की सलाह नहीं दी जाएगी।

यह भी पढ़े : अगर कैंसर के लक्षणों के बीच आप कन्फ्यूज़्ड हैं, तो विशेषज्ञ बता रहें हैं इनमें अंतर

ओमिक्रॉन के खिलाफ कारगर होगी

ओमीक्रोन वेरियेंट का पता अभी-अभी चला है। इसलिए अभी कंपनी ने इसमें इसका परीक्षण नहीं किया है। हालांकि इसके बीच एक्सपर्ट्स का कहना है कि चूंकि टैबलेट के काम करने का तरीका ऐंटिबॉडीज या वैक्सीन के तरीके से इतर है, इसलिए ये टैबलेट ओमिक्रॉन ही नहीं कोरोना के किसी भी वैरियेंट के खिलाफ कारगर होगा। 

Source

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on telegram
Telegram
Trending