Zindademocracy

RRB-NTPC Protest: FIR दर्ज होने के बाद खान सर ने जारी किया वीडियो, कहा-”हाथ जोड़ते हैं, हिंसा में शामिल न हो छात्र’ RRB-NTPC की परीक्षाओं में हुई धांधली के मामले बिहार के मशहूर शिक्षक खान सर पर हिंसा बढ़काने के कथित आरोप में FIR दर्ज हुई थी

बिहार | RRB-NTPC की परीक्षाओं में हुई धांधली के मामले बिहार के मशहूर शिक्षक खान सर पर हिंसा बढ़काने के कथित आरोप में FIR दर्ज हुई थी, जिसके बाद से खान सर ने अपना फ़ोन बंद कर दिया था, जिसके बाद शुक्रवार को उन्होंने के वीडियो जारी किया है जिसमे उन्होंने छात्रों से अपील करते हुए कहा, ‘हम हाथ जोड़ कर कह रहे हैं, 28 जनवरी को किसी भी तरह के विरोध प्रदर्शन में हिस्सा मत लीजिए, ये आपके लिए गलत साबित हो जाएगा।’

बता दे कि, बिहार में आरआरबी एनटीपीसी सीबीटी 2 और ग्रुप डी सीबीटी 1 परीक्षा में धांधली का आरोप लगाकर छात्र पिछले कई दिनों से प्रदर्शन कर रहे हैं। छात्र संगठनों ने शुक्रवार को बिहार बंद बुलाया है। इसे मुख्य विपक्षी दल आरजेडी व अन्य दलों ने समर्थन दिया है।

वीडियो में सर ने विद्याथियों से अपील में यह कहा-
खान सर ने वीडियो में कहा, ‘देखिए सारे स्टूडेंट्स के लिए आवश्यक सूचना है। आपकी सारी मांगों को रखा गया है। हम आपकी सारी दुविधाओं को दूर करते हैं। 28 जनवरी को किसी भी तरह के विरोध प्रदर्शन में हिस्सा नहीं लीजिए, ये आपके लिए गलत साबित हो जाएगा। अभी वीडियो आया है बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी का।

उन्होंने कहा, मैंने रेलमंत्री से बात की, वो स्टूडेंट्स की मांग पर सहमत हैं। रेल मंत्री भी इस बात से सहमत हैं कि 20 गुना ज्यादा रिजल्ट देंगे। नंबर रिपीट नहीं होंगे। 3.5 लाख बच्चों को और जोड़ा जाएगा। एनटीपीसी वालों की समस्या खत्म हो गई। ग्रुप डी वालों के सीबीडीटी 2 को अचानक जोड़ा गया था, उसे हटा दिया जाएगा। पीएम मोदी का भी इसमें दखल था, इसलिए आसानी से सहमति बन गई।’

गलती आरआरबी की थी, रेल मंत्री या पीएम की नहीं
खान सर ने अपील में यह भी कहा कि, गलती रेलमंत्री या पीएम की तरफ से नहीं थी। ये गलती आरआरबी की थी। आरआरबी भी कुछ चीजों से जूझ रही थी। उसे इतने बड़ी परीक्षा कराने के लिए कोई कंपनी जल्दी नहीं मिल रही थी। कुछ लोग कह रहे हैं कि कुछ राज्यों में चुनाव है, इसलिए ऐसा हो रहा है। यह सब गलत है, यह किसी छात्र या शिक्षक का बयान नहीं है। यह राजनीतिक बयान है।

खान सर ने छात्रों को किया आगाह-
सर ने अपील में यह भी कहा कि रेलवे को इसलिए छात्रों की बात माननी होगी, क्योंकि यह संशोधन हुआ है। जो कमेटी बनाई गई है, उसका फैसला आरआरबी का नहीं है, इसमें रेल मंत्रालय और पीएमओ शामिल हैं। ऐसे में छात्र 28 जनवरी को प्रदर्शन में शामिल न हों। जब छात्र विरोध प्रदर्शन करेंगे, तो उसकी आड़ में अन्य लोग हिंसा और आगजनी करेंगे, जैसे आरा में ट्रेन जलाई गई।

पटना के कलेक्टर ने लगाया था कोचिंग संचालकों पर छात्रों को भड़काने का आरोप-
खान सर की अपील के पहले पटना के कलेक्टर ने कहा था कि, छात्रों के उग्र प्रदर्शन के पीछे कुछ कोचिंग संचालकों का हाथ है। उन्होंने किसी का नाम नहीं लिया था, इशारा खान सर की ओर माना जा रहा था, क्योंकि आरआरबी एनटीपीसी के मुद्दे पर वह कई दिनों से बात रख रहे थे। इसके बाद खान सर ने कहा था कि अगर इसमें उनकी कोई भूमिका है, तो प्रशासन उन्हें गिरफ्तार कर ले। खान सर ने कहा था, अगर प्रशासन उन्हें गिरफ्तार करता है, तो आंदोलन खत्म होने के बजाय और भड़केगा।

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on telegram
Telegram
Trending