Zindademocracy

अब चलते फिरते घर में लें छुट्टियों का मजा, पर्यटन नीति 2022-2032 में योगी सरकार लाएगी कैरेवान मोटर होम यही नहीं सरकार कैरेवान मोटर का संचालन करने वाले लोगों को आरटीओ रजिस्ट्रेशन में भी छूट देने की योजना भी बना रही है।

5 अगस्त, लखनऊ। सोचिए आपके पास कोई चलता-फिरता घर हो और छुट्टियों में आप कहीं घूमने जाना चाहें तो उसे ले सके। पढ़ने में यह थोड़ा अजीब सा लग सकता है। लेकिन योगी सरकार उत्तर प्रदेश आने वाले पर्यटकों को चलता-फिरता और होटल जैसी सुविधाओं वाला घर देने की तैयारी में है। जिसमें एक किचन भी होगा और आप अपना मन पसंद भोजन बना सकते हैं। पर्यटन नीति 2022-2032 में सरकार कैरेवान मोटर होम और पार्क की सुविधा देने जा रही है। इससे एक तरफ जहां पर्यटकों को अत्याधुनिक सुविधाओं का लाभ मिलेगा। वहीं दूसरी तरफ प्रदेश में रोजगार एवं स्वरोजगार के नये अवसर भी उपलब्ध होंगे।

मुख्यमंत्री योगी की मंशा है कि पर्यटन के लिहाज से उत्तर प्रदेश घरेलू एवं वैश्विक पर्यटकों के लिए फेवरेट डेस्टिनेशन बने। इसके लिए वह धार्मिक पर्यटन स्थलों का सुन्दरीकरण करने के साथ ही देश-दुनिया में प्रचलित नए कॉन्सेप्ट को भी अपना रहे हैं। कैरेवान अपने आप में नया कॉन्सेप्ट है, जो विदेशों और देश के कुछ राज्यों में काफी प्रचलित है। मोटर होम के साथ ही सरकार कैरेवान पार्क बनवाने की तैयारी में है जहां पर कैरेवान मोटर की पार्किंग की जा सके। पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर यह दोनों सुविधाएं ऐतिहासिक, प्राकृति और सांस्कृतिक धरोहरों को अपने में समेटे बुंदेलखंड में शुरू करने की योजना है।

उत्तर प्रदेश में कैरेवान सुविधा शुरू हो इसके लिए सरकार निवेशकों को आकर्षित कर रही है। कैरेवान के लिए नई पर्यटन नीति में सब्सिडी की व्यवस्था भी दी जाएगी। अगर कोई निवेशक इस सुविधा को प्रदेश में शुरू करने के लिए निवेश करता है तो सरकार की तरफ अनुमन्य कैपिटल पर 20 प्रतिशत की सब्सिडी या अधिकतम 20 लाख रुपये की छूट दी जाएगी। साथ ही पर्यटन विभाग में रजिस्ट्रेशन नि:शुल्क होगा।

यही नहीं सरकार कैरेवान मोटर का संचालन करने वाले लोगों को आरटीओ रजिस्ट्रेशन में भी छूट देने की योजना भी बना रही है।

वहीं कैरेवान पार्क विकसित करने वाले निवेशकों को सरकार सब्सिडी देने के साथ ही पंजीकरण एवं स्टाम्प शुल्क और भू-उपयोग परिवर्तन एवं विकास शुल्क में छूट देने की योजना भी बना रही है।

कैसी होगी कैरवान मोटर
कैरेवान में दो लोगों के ठहरने की व्यवस्था होगी। इसमें सोफा-कम-बेड, फ्रिज और माइक्रोवेव ओवन के साथ डाइनिंग टेबल वगैरह होंगे। शौचालय भी इसके अंदर इनक्लूड होगा। यही नहीं, इसमें एयर-कंडीशन, इंटरनेट कनेक्टिविटी, ऑडियो-वीडियो सर्विसेस, चार्जिंग सिस्टम और जीपीएस जैसी तमाम जरूरी सुविधाएं होंगी।

पर्यटक स्थल के तौर पर विकसित होगा कैरवान पार्क
वहीं कैरेवान पार्क को पर्यटक स्थल के तौर पर विकसित किया जाएगा, जहां पर कैरवान मोटर को पार्क करने के साथ ही चार्जिंग और अन्य सुविधाएं भी होंगी। यही नहीं पार्क का विकास इस तर्ज पर किया जाएगा कि पर्यटक घूमने-फिरने के साथ-साथ पिकनिक का भी आनंद ले सकेंगे

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on telegram
Telegram
Trending