Zindademocracy

क्या पुतिन के बचपन की ये घटना हो सकती है यूक्रेन पर हमला करने की वजह ? आइए पढ़ते हैं उनके ऐसे कुछ कारनामे जो उन्हें माचो मैन का अवतार देते हैं।

नई दिल्ली | पुष्पा फिल्म के एक फेमस डायलॉग है जिसने आजकल इंटरनेट पर तहलका मचाया हुआ है, ‘मैं झुकेगा नहीं…’

रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने यूक्रेन पर हमला बोलकर पुष्पा के इस डीएलओगे जैसा ही काम किया है। अपनी निगेटिव छवि के साथ ही अमेरिका, पश्चिमी मुल्कों, नाटो, संयुक्त राष्ट्र को ललकारते हुए डायलॉग दे रहे हैं, ‘मैं झुकेगा नहीं…’ उनकी जिद से अंतरराष्ट्रीय संकट गहरा गया है। वह दुनिया को एक खतरनाक युद्ध के मुहाने पर खड़ा करते दिख रहे हैं।

एक बार उन्होंने अपने बचपन की एक घटना सुनाई थी – ‘जब लेनिनग्राद की सड़कों पर गुंडे मुझे घेर लेते और लड़ाई तय होती तो मैं एनश्योर करता था कि पहला पंच मैं ही मारूं.’

पहला पंच खुद मारने की अपनी इस ज़िद का व्याख्या उन्होंने यूक्रेन पर हमला करके दिया है। वह खुद अपनी छवि को लेकर बहुत सचेत रहते हैं, और वक्त-वक्त पर खुद की माचो इमेज सामने रखते रहते हैं। इस इमेज की वजह से आम रूसी को लगता है कि उनका नेता अमेरिका को चुनौती देता है, नाटो से नहीं डरता, धमकियों को ठेंगे पर रखता है, तो वह कितना स्ट्रांन्ग है। आइए पढ़ते हैं उनके ऐसे कुछ कारनामे जो उन्हें माचो मैन का अवतार देते हैं।

पुतिन से जुडी कुछ रोचक बातें –

* साल 2000 में जब रूस में इलेक्शन थे तो वह फाइटर जेट उड़ाते दिखे.

* 2011 के बाईकर्स फेस्टिवल में वह स्पोर्ट्स बाइक चलाते हुए पहुंच गए थे.

* आग में फंसे लोगों को भी पुतिन ने खुद जाकर बचाया.

* पुतिन को घुड़सवारी का बहुत शौक है और वे बेहद अच्छे हॉर्स राइडर है.

* पुतिन ट्रेंड जूडो कराटे चैंपियन भी हैं,

* पुतिन की माचो मैन छवि से प्रभावित होकर एक ऑनलाइन कॉमिक्स सीरीज भी उन पर बन चुकी है, इसका नाम ‘सुपर पुतिन’ था. इसमें पुतिन को ऐसे हीरो के तौर पर दिखाया गया जो जूडो कराटे के दांव-पेंच से टेररिस्ट को मारता है.

* साल 2008 में एक TV क्रू पर बाघ ने हमला कर दिया था, पुतिन ने उन्हें बचाया था.

* उनके समर्थक कहते हैं कि वह खूंखार जानवरों शेरों और भालुओं पर काबू पा लेते हैं. उनकी शेर भालुओं के साथ कई तस्वीर हैं.

* वाइल्ड लाइफ को लेकर वह काफी गंभीर हैं. मास्को से बाहर बर्फीले कुत्तों के साथ खेलने का उनका वीडियो वायरल हुआ था.

* पुतिन ने जिम में पसीना बहाते हुए और छाती के सिक्स पैक दिखाते हुए अपने वीडियोज भी जारी कराए हैं.

* पुतिन सभी तरह की राइफल चला लेते हैंं.यह उन्होंने अपनी जासूसी ट्रेनिंग के दौरान ही सीख लिया था.

* पुतिन को आइस हॉकी खेलने का भी काफी शौक है. आइस हॉकी के टूर्नामेंटों पर वह देश के टेलीविजन चैनल पर काफी विस्तार से अपनी बातें रख चुके हैं

* वह ट्रेंड पायलट भी हैं और बतौर पायलट रूस के जंगलों में आग बुझाने के एक कैंपेन में सहयोग भी कर चुके हैं.

* पुतिन स्कूबा डाइवर भी हैं और साल 2011 में ब्लैक सी में स्कूबा डाइविंग करते हुए ग्रीक संपत्ति के महत्वपूर्ण अवशेषों को ढूंढ लाए थे.

पुतिन की जिंदगी से जुड़ी कुछ अन्य रोचक बातें

* पुतिन खुद जासूस रह चुके हैं तो उन्हें डिटेक्टिव नॉवेल पढ़ने का काफी शौक है.

* पुतिन की सुरक्षा को लेकर बेहद संजीदगी बरती जाती है. जब वह विदेश दौरों पर होते हैं, तो उनके टॉवल, कमरे के कंर्टेन, बेडशीट, बर्तन के अलावा टॉयलेट का कमोड तक चेंज कर दिया जाता है.

* पुतिन का फिटनेस रिजाइम भी चर्चा में आ चुका है. ऐसी खबरें हैं कि वह इस उम्र में भी सुबह 1 घंटे का नियमित वर्कआउट करते हैं और फिटनेस के लिए स्विमिंग करते हैं.

* पुतिन के धुर विरोधी मुल्क अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रंप भी एक बार सार्वजनिक तौर पर कह चुके हैं कि पुतिन उनके फेवरेट हैं.

* एक रूसी सरकारी वेबसाइट पर उल्लेख है कि पुतिन ने स्कूल में पढ़ने के दौरान ही सोवियत जासूसी सेवा में जाने का मन बना लिया था.

* पुतिन ने राष्ट्रपति बनने के बाद पूर्वी जर्मनी में जासूसी के दौरान केजीबी में उनके सहयोगी रहे लोगों को ऊंचे पदों पर बिठाया.

* पुतिन समलैंगिकों के बहुत विरोधी हैं और उन्हें शैतानों का दूत बताते हैं.

* पुतिन की संपत्ति के बारे में पुष्ट रिपोर्ट्स नहीं है, पर रूसी मीडिया उनके पास 50 अरब डालर की संपत्ति होने का अनुमान जताती है.

* पुतिन संगीत का भी शौक रखते हैं, तथा बीटल्स और पॉल मेकॉर्टिनी को सुनना पसंद करते हैं. पुतिन गाना भी गाते हैं. वह हॉलीवुड स्टार्स केविन कॉस्न, जेरार्ड डेपरडियूे, शेरोन स्टोन के साथ स्टेज से जैज सॉन्ग गा चुके हैं.

* पुतिन के नाम पर रूस में काफी सारे ब्रांड भी हैं. उनके नाम की उम्दा शराब भी रूस में उपलब्ध है.

पुतिन को अक्सर रूसी भाषा में ही बात करते देखा जाता है. चूंकि वह जर्मनी में काम कर चुके हैं तो उनका जर्मन भाषा पर भी धाराप्रवाह अधिकार है, पर अंग्रेजी में पुतिन का हाथ तंग है.

* पुतिन कभी-कभी अजीब आदेश भी जारी करते हैं. एक बार उन्होंने रूस के काकेशस प्रांत की मुस्लिम महिलाओं के थूक के नमूने इकट्ठे करवाए थे. उनकाे शक था कि इस प्रांत की कोई महिला मानव बम बनकर सोची विंटर ओलंपिक में आत्मघाती हमला करेगी. ऐसे में इसी थूक के सेंपल से मृत महिला के शव का डीएनए मिलान कर लिया जाएगा.

* पुतिन के दादा रूस के चर्चित नेताओं स्टालिन और लेनिन के यहां खाना बनाने का काम कर चुके हैं.

* पुतिन का डॉग प्रेम किसी से छुपा नहीं है, एक बार वह जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल से मुलाकात के दौरान अपने भारी-भरकम कुत्तों को साथ ले गए थे.

* पुतिन अपने सीनियर अफसरों को फटकारते वक्त सड़कछाप भाषा बोलने से भी नहीं चूकते.

“पहला पंच खुद मारो”
उनका बचपन सेंट पीटर्सबर्ग जो पहले लेनिनग्राद कहलाता था, वहां बीता. वहाँ हमेशा कुछ ताकतवर लड़के उनसे मारपीट करने आते थे। उनको सबक सिखाने पुतिन ने जूडो सीखा। हासाल 2015 के पुतिन ने उसी दौर को याद करते हुए एक बयान दिया कि, ‘आज से 50 साल पहले लेनिनग्राद की सड़कों की मार-पिटाई ने मुझे यह सिखाया कि जब लड़ाई होनी तय है, तो पहला पंच खुद मारो’. वर्तमान में वह यूक्रेन के मुद्दे पर कुछ ऐसा ही करते दिख रहे हैं।

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on telegram
Telegram
Trending