Zindademocracy

Bulli Bai App Case: मामलें में मुंबई की साइबर सेल को मिला चोथी सफलता, ओडिशा से युवक को किया गिरफ्तार

मुंबई: मुस्लिम माहिलाओं की निलामी वाले बुल्ली बाई एप मामले में मुंबई की साइबर सेल को एक और सफलता मिली है। साइबर सेल की टीम ने एक और आरोपी को ओडिशा से गिरफ्तार किया है। पकड़े गए चोथे आरोपी का नाम नीरज सिंह बाताया जा रहा है। पुलिस ने इससे पहले मामले में ऐप के ङेवेलपर 21 वर्षीय नीरज बिश्नोई को बंगलौर से मुम्बइ पुलिस ने गिरफ्तार किया था।

वहीं, मामले मे मुंबई पुलिस की साइबर सेल ने विशाल कुमार झा, श्वेता सिंह और मयंक रावत को पहले ही गिरफ्तार कर लिया था। यह तीनों भी इस मामले में नीरज के साथ मिले हुए थे। मुम्बई की साइबर सेल का कहना है कि, मामले मे अभी और गिरफ्तारी हो सकती है।

क्या था मामला-
मुस्लिम महिलाओं की तस्वीरें अपलोड कर नीलामी करने वाली बुल्ली बाई ऐप पिछले साल नवंबर में बनाई गई थी और इसे दिसंबर में अपडेट किया गया था, साथ ही तस्वीरों से छेड़छाड़ भी की गई थी हाल ही इस मामले में पटियाला हाउस कोर्ट ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए जमानत याचिका पर सुनवाई करते हुए नीरज व उनके साथियों की जमानत याचिका को खारिज कर दिया था।

वाकीलों ने आरोपो को बताया बेबुनियाद-
नीरज बिश्नोई के वकीलों ने दलील दी थी कि, आरेपी 20 साल का लड़का है और उस पर लगाए गए आरोप बेबुनियाद हैं, उसने यह ऐप किसी महिला की बदनामी के मकसद से नहीं बनाई थी और उसके पास से कोई रिकवरी भी नहीं हुई है, लिहाजा उसे जमानत दी जाए. इस पर स्पेशल सेल की आईएफएसओ यूनिट ने दलील दी थी कि इस ऐप पर मुस्लिम महिलाओं की फोटो डालकर नीलाम करने की कोशिश की गई थी, जिस ट्विटर अकाउंट से ये फोटो शेयर की गई वो सब आरोपी के ही थे, लिहाजा जमानत नहीं दी जानी चाहिए.

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on telegram
Telegram
Trending