Zindademocracy

जिला सहकारी बैंक लि.,कानपुर एवं सहकारी समितियों से कर्ज लेने के बाद कर्ज अदायगी मे हीला-हवाली कर रहे कर्जदारों के खिलाफ बैंक ने चलाया वसूली अभियान इस अभियान के दौरान बैंक के बड़े बकाएदारों के खिलाफ साइटेशन एवं वारंट जारी कराए गए हैं।

उत्तर प्रदेश | जिला सहकारी बैंक लि.,कानपुर एवं सहकारी समितियों से कर्ज लेने के बाद कर्ज अदायगी मे हीला-हवाली कर रहे कर्जदारों के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए बैंक की ओर से वसूली अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के दौरान बैंक के बड़े बकाएदारों के खिलाफ साइटेशन एवं वारंट जारी कराए गए हैं। बकायेदारों पर वर्तमान में लगे ऋण एनपीए की श्रेणी में पहुंचने से रोकने के लिए बैंक की ओर से कार्रवाई की गई। उपमहाप्रबंधक नरेंद्र कुमार वर्मा, अपर जिला सहकारी अधिकारी महेश बंका, शाखा प्रबन्धक चौबेपुर नवनीत कुमार, जिला सहकारी अधिकारी उदय सिंह, कुर्क अमीन वीरेंद्र कटियार एवं समिति सचिव सीता पाल की ओर से अवगत कराया गया कि संयुक्त आयुक्त व संयुक्त निबंधक के निर्देशन में वसूली अभियान के तहत समिति गौरी लक्खा के एक लाख रुपये से बड़े बकाएदार सत्यनारायण को सहकारी अधिकारियों द्वारा गिरफ्तार कराया गया ।

इसी प्रकार से कानपुर नगर एवं देहात की समस्त तहसीलों के बड़े बकाएदारों से वसूली के लिए उनके विरुद्ध भी साइटेशन एवं वारंट जारी कराए जा रहे हैं। जिला सहकारी बैंक के अधिकारियों के अनुसार समस्त कृषक बकाएदारों वर्तमान में संचालित एक मुश्त समाधान योजना (ओटीएस) का लाभ उठाते हुए बकाया धनराशि जमा कर योजना का लाभ उठा सकते हैं एवं 30 जून से पूर्व ऋण की अदायगी करते हुये पुनः मात्र तीन प्रतिशत प्रभावी वार्षिक ब्याज दर पर फसली ऋण प्राप्त कर सकते है।

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on telegram
Telegram
Trending