Zindademocracy

IND vs SA test: कोहली नहीं तोड़ पाए 30 साल का सिलसिला, दक्षिण अफ्रीका ने भारत को 2-1 से टेस्ट में दी मात

केपटाउन: भारत और साउथ अफ्रीका के बीच खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच में भारतीय टीम को साउथ अफ्रीका ने धूल चटा दी। साउथ अफ्रीका ने टेस्ट सीरीज में पिछड़ने के बाद 2-1 से जीत हासिल की। टीम ने शुक्रवार को तीसरे टेस्ट में भारत को 7 विकेट से हराया। बॉलिंग पिच होने के चलते भारत की दूसरी पारी टेस्ट के तीसरे ही दिन ही ध्वस्त हो गयी थी, जिसके चलते ये टेस्ट 4 ही दिन में खत्म हो गया। भारत ने साउथ अफ्रीका को 212 रन का लक्ष्य दिया था. कीगन पीटरसन ने दूसरी पारी में 82 रन बनाकर टीम को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई।

भारत ने पहली पारी में 223 जबकि दूसरी पारी में 198 रन बनाए थे. साउथ अफ्रीका ने पहली पारी में 210 रन का स्कोर खड़ा किया था. सीरीज का पहला टेस्ट भारत ने जीता था. लेकिन मेजबान टीम ने अंतिम दोनों टेस्ट जीतकर सीरीज पर कब्जा किया. भारतीय टीम यहां 30 साल में कभी भी टेस्ट सीरीज नहीं जीत सकी है. अब दोनों देशों के बीच 19 जनवरी से तीन मैचों की वनडे सीरीज खेली जाएगी।

चौथे दिन साउथ अफ्रीका ने भारत की दी मात-
मैच के चौथे दिन साउथ अफ्रीका ने दूसरी पारी में 2 विकेट पर 101 रन से आगे खेलना शुरू किया. कीगन पीटरसन 48 रन पर नाबाद थे. उन्होंने दिन के दूसरे ओवर में सीरीज का अपना तीसरा अर्धशतक पूरा किया. उन्हाेंने पहली पारी में भी शानदार 72 बनाए थे. 59 रन पर पीटरसन का कैच पहली स्लिप पर चेतेश्वर पुजारा ने टपकाया. अगर यह कैच पकड़ लिया जाता मैच रोमांचक हो सकता था, क्योंकि इसके बाद भी साउथ अफ्रीका को 86 रन की जरूरत थी।

तीसरे विकेट के लिए अर्धशतकीय साझेदारी
कीगन पीटरसन और रासी वान डुसैन ने तीसरे विकेट के लिए 54 रन जोड़े. इससे पहले पीटरसन ने दूसरे विकेट के लिए एल्गर के साथ भी अर्धशतकीय साझेदारी की थी. पीटरसन ने 113 गेंद पर 82 रन बनाए. 10 चौके जड़े। उन्हें शार्दुल ठाकुर ने बोल्ड किया. लंच तक स्कोर 3 विकेट पर 171 रन था. डुसैन 41 और टेंबा बावुमा 32 रन बनाकर नाबाद रहे। दोनों ने नाबाद 57 रन जोड़े. टीम ने लक्ष्य को 63.3 ओवर में हासिल कर लिया. एल्गर ने भी दूसरी पारी में 30 रन का योगदान दिया।

लगातार दूसरे मैच में भारतीय गेंदबाज फेल
इससे पहले साउथ अफ्रीका ने दूसरा टेस्ट भी 7 विकेट से जीता था। तब उसे 240 रन का लक्ष्य मिला था. लेकिन भारतीय गेंदबाज दूसरी पारी में सिर्फ 3 विकेट ले सके थे, इस बार भी भारतीय गेंदबाज दूसरी पारी में सिर्फ 3 विकेट ले सके. टीम के पास जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी और उमेश यादव जैसे अनुभवी गेंदबाज थे, लेकिन वे साउथ अफ्रीका के युवा और कम अनुभवी बल्लेबाजों के आगे फिसड्‌डी साबित हुए।

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on telegram
Telegram
Trending