Zindademocracy

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ठाणे-दिवा के बीच बनी नई रेल लाइन का किया उद्घाटन

शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए ठाणे-दिवा के बीच बनी 2 अतिरिक्त रेलवे लाइनों का उद्घाटन किया। मुंबई उपनगरीय रेलवे की दो उपनगरीय रेलगाड़ियों को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस दोरान उन्होंने कहा कि, ये मुंबई वासियों के जीवन में बड़ा बदलाव लाएगी।
पीएम मोदी ने कहा, ठाणे-दिवा के बीच नई बनी पांचवीं और छठी रेल लाइन के शुभारंभ पर हर मुंबईकर को बहुत-बहुत बधाई. ये नई रेल लाइन, मुंबई वासियों के जीवन में एक बड़ा बदलाव लाएंगी, उनकी Ease of Living बढ़ाएगी. ये नई रेल लाइन मुंबई की कभी ना थमने वाली ज़िंदगी को और अधिक रफ्तार देगी।

पीएम मोदी ने कहा, पिछले 7 सालों में मुंबई में मेट्रो का भी विस्तार हुआ है. मुंबई के आसपास के उपनगरीय केंद्रों में भी मेट्रो शुरू की जा रही हैं. 2008 में, इन लाइनों के लिए आधारशिला रखी गई थी, 2015 तक इनके पूरा होने की उम्मीद थी. हमने इस पर तेजी से काम करना शुरू कर दिया और इसे पूरा करना सुनिश्चित किया।

पीएम मोदी ने कहा, आज से सेंट्रल रेलवे लाइन पर 36 नई लोकल चलने जा रही हैं. इनमें से भी अधिकतर AC ट्रेनें हैं. ये लोकल की सुविधा को विस्तार देने, लोकल को आधुनिक बनाने के केंद्र सरकार के कमिटमेंट का हिस्सा है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि अहमदाबाद-मुंबई हाई स्पीड रेल आज मुंबई और देश की आवश्यकता है. ये मुंबई की क्षमता को और सपनों के शहर के रूप में मुंबई की पहचान को सशक्त करेगी।

‘प्लानिंग में कमी के चलते पहले सालों साल चलते थे प्रोजेक्ट्स’
उन्होंने कहा, मुंबई महानगर ने आज़ाद भारत की प्रगति में अपना अहम योगदान दिया है. अब प्रयास है कि आत्मनिर्भर भारत के निर्माण में भी मुंबई का सामर्थ्य कई गुना बढ़े. इसलिए मुंबई में 21वीं सदी के इंफ्रास्ट्रक्चर निर्माण पर हमारा विशेष फोकस है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, अतीत में इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट्स सालों-साल तक इसलिए चलते थे क्योंकि प्लानिंग से लेकर एग्जीक्यूशन तक तालमेल की कमी थी. इस अप्रोच से 21वीं सदी भारत के इंफ्रास्ट्रक्चर का निर्माण संभव नहीं है. इसलिए हमने पीएम गतिशक्ति नेशनल मास्टरप्लान बनाया है.

पीएम मोदी ने कहा, बरसों से हमारे यहां एक सोच हावी रही कि जो साधन-संसाधन गरीब, मिडिल क्लास इस्तेमाल करता है, उस पर निवेश मत करो. इस वजह से भारत के पब्लिक ट्रांसपोर्ट की चमक हमेशा फीकी ही रही। लेकिन अब भारत उस पुरानी सोच को पीछे छोड़कर आगे बढ़ रहा है। पीएम मोदी ने बताया, 6,000 से अधिक रेलवे स्टेशनों को वाईफाई से जोड़ा गया है. वंदे भारत ट्रेन भारत के रेल ट्रांजिट में सुधार कर रही हैं. अगले कुछ वर्षों में 400 नई वंदे भारत ट्रेन शुरू की जाएंगी।

 

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on telegram
Telegram
Trending