Zindademocracy

राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस में मुख्य अतिथि माननीय नीलिमा कटियार जी के हाथों से डॉ राकेश वर्मा को सम्मानित किया गया।

भारत में राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस पहली बार 1 जुलाई 1991 को डॉ बिधान चंद्र राय जी के सम्मान में एवं स्वास्थ्य क्षेत्र में उनके उत्कृष्ट योगदान को श्रद्धांजलि देने के लिए मनाया गया था । उन्होंने अपने जीवन काल में लाखों लोगों का इलाज किया तथा हजारों लोगों को सेवा भावना के लिए प्रेरित किया।

एक जुलाई उनके कार्यों को याद करने तथा डॉक्टर्स के उत्कृष्ट कार्य को सम्मान देने का माध्यम है। हाल ही में करोना महामारी के दौरान दुनिया भर के डॉक्टर ने अपनी जान की परवाह किए बिना रोगियों का इलाज किया।

प्रत्येक वर्ष राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस का उत्सव एक समर्पित विषय पर केंद्रित होता है जो हमें एक समान और समकालीन संचार में मदद करता है इसीलिए शायद इस बार राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस 2022 की थीम फ्रंट लाइन पर परिवारिक डॉक्टर है।

डॉक्टर्स के इसी सेवा योगदान सेवा भाव और बलिदान के सम्मान में मां भगवती मेमोरियल चैरिटेबल सोसायटी और लायंस क्लब मंगलम के संयुक्त तत्वाधान में 1 जुलाई को कानपुर के हृदय रोग संस्थान, में पूरे उत्साह के साथ राष्ट्रीय चिकित्सक दिवस मनाया गया।

इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि माननीय नीलिमा कटियार जी के हाथों से डॉ राकेश वर्मा को सम्मानित किया गया।

 

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on telegram
Telegram
Trending