Zindademocracy

महिंद्रा ने ‘Golden Girl’ को गिफ्ट की कस्टमाइज्ड XUV-700, हाइड्रोलिक सीट से सीधे गाड़ी में बैठ पाएंगी अवनी इस कार की कीमत करीब 28 लाख रुपए बताई जा रही है।

नई दिल्ली | टोक्यो पैरालंपिक में गोल्ड मेडल जीत देश का नाम रोशन करने वाली अवनी लेखरा को आनंद महिंद्रा ने स्पेशल कार गिफ्ट करने का वादा किया था। बुधवार को आनंद महिंद्रा ने अपना वादा पूरा करते हुए अवनी को स्पेशल कस्टमाइज्ड XUV-700 कार गिफ्ट की। जिसमें अवनी के लिए स्पेशल हाइड्रोलिक सीट लगाई गई है ताकि अवनी आसानी से कार में चढ़ और उतर सकें। इस कार की कीमत करीब 28 लाख रुपए बताई जा रही है।

Tokyo Paralympics में जीते दो मेडल
टोक्यो पैरालम्पिक शूटिंग में दो गोल्ड मेडल जीतने वाली अवनी लेखरा ने सोशल मीडिया पर अपनी नई कार महिंद्रा XUV-700 की फोटो शेयर की हैं। इसके साथ ही उन्होंने आनंद महिंद्रा का आभार भी जताया। उन्होंने लिखा की आनंद महिंद्रा और महिंद्रा एंड महिंद्रा की उस पूरी टीम को थैंक-यू। जिन्होंने ये कस्टमाइज्ड कार बनाई है। इस तरह की कार अधिक-अधिक समोवशी भारत बनाने की दिशा में एक बड़ा कदम है। मैं इस डिजाइन की और XUV-700 को सड़क पर देखना चाहती हूं।

अवनी के लिए किया गया है Special Customization
अवनी लेखरा के लिए इस कार में अलग से कस्टमाइजेशन किए गए हैं। इसमें सीट को हाइड्रोलिक से जोड़ दिया गया है। जिसके चलते व्हीलचेयर से कार में सीधे बैठना आसान हो जाता है। इसके अलावा कार में दिव्यांग लोगों को ध्यान में रखते काफी बदलाव किए गए हैं। वहीं अवनी लेखरा के लिए स्पेशल XUV-700 बनाने को लेकर आनंद महिंद्रा टीम की हौसला अफजाई की। उन्होंने ट्वीट कर पूरी टीम को बधाई दी साथ ही अवनी लेखरा को भी XUV-700 पसंद करने के लिए थैंक यू कहा।

मूल रूप से जयपुर की रहने वाली अवनी लेखरा ने टोक्यो पैरालिंपिक में शूटिंग प्रतियोगिता में गोल्ड और ब्रॉन्ज मेडल जीता था। अवनि एक पैरालिंपिक में दो मेडल जीतने वाली देश की पहली खिलाड़ी बन गई। वहीं हाल ही में अवनि को देश के सर्वोच्च खेल सम्मान मेजर ध्यानचंद खेल रत्न से भी सम्मानित किया गया था।

एक्सीडेंट के बाद हुआ paralysis
जयपुर के शास्त्री नगर में रहने वाली अवनि लेखरा ने टोक्यो पैरालिंपिक में 10 मीटर एयर राइफल में गोल्ड जीता था। वहीं, 50 मीटर एयर राइफल महिला प्रतिस्पर्धा में ब्रॉन्ज मेडल जीता। साल 2012 में महाशिवरात्रि के दिन अवनि का एक्सीडेंट हो गया था, जिससे उसे पैरालिसिस हो गया। बावजूद इसके, हिम्मत न हारते हुए अवनी ने देश का नाम दुनियाभर में रौशन किया।

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on telegram
Telegram
Trending