Zindademocracy

प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक के मामले में जांच कमेटी की चेयर पर्सन और पूर्व जज जस्टिस इंदु मल्होत्रा को मिली धमकी मामले की जांच कर रही सुप्रीम कोर्ट की कमेटी की चेयर पर्सन और पूर्व जज जस्टिस इंदु मल्होत्रा को सिख फॉर जस्टिस (SFJ) की तरफ से धमकी मिली है।

नई दिल्ली | पंजाब के फिरोजपुर जिले में प्रधानमंत्री की रैली में सुरक्षा में हुई चूक के मामला अब और भी गंभीर होता जा रहा है। मामले की जांच कर रही सुप्रीम कोर्ट की कमेटी की चेयर पर्सन और पूर्व जज जस्टिस इंदु मल्होत्रा को सिख फॉर जस्टिस (SFJ) की तरफ से धमकी मिली है। SFJ ने एक धमकी भरी ऑडियो क्लिप जारी की है, जिसमे कहा गया है कि, उन्हें प्रधानमंत्री मोदी और सिखों में से किसी एक को चुनना होगा।

बता दें कि, 12 जनवरी को सुप्रीम कोर्ट ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पंजाब यात्रा के दौरान सुरक्षा में हुई चूक की जांच के लिए कमेटी का ऐलान किया था। ये पांच सदस्यीय कमेटी पूर्व न्यायाधीश इंदु मल्होत्रा की अध्यक्षता में गठित की गई है, जिसके बाद सुप्रीम कोर्ट की कमेटी की चेयर पर्सन को धमकी दी गयी है।

वकीलों को भी दी गई थी धमकी-
प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक के मामले में ये कोई पहली धमकी नहीं है, पिछले हफ्ते सुप्रीम कोर्ट के वकीलों को खालिस्तान समर्थकों ने जान से मारने की धमकी दी थी। सुप्रीम कोर्ट के कई वकीलों को इस मामले में धमकी भरे कॉल आए थे। वकीलों से भी प्रधानमंत्री मोदी की सुरक्षा की चूक के मामले से दूर रहने को कहा गया था।

वकीलों का दावा मिली धमकी-
करीब दर्जन भर वकीलों ने दावा किया था कि, उनको धमकी भरे कॉल मिले हैं. ये कॉल उन्हें सिख फॉर जस्टिस की ओर से इंग्लैंड के नंबर से आए थे. इसके बाद सुप्रीम कोर्ट की बार एसोसिएशन ने न्यायाधीश इंदु मल्होत्रा को पत्र लिखकर प्रधानमंत्री की सुरक्षा में चूक के मामले में वकीलों को कथित तौर पर मिल रही धमकियों की जांच की मांग की थी।

जांच कमेटी में और कौन?
सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने न्यायमूर्ति मल्होत्रा के अलावा राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) के महानिदेशक या उनके प्रतिनिधि (जो पुलिस महानिरीक्षक से नीचे की रैंक के नहीं हों), चंडीगढ़ के पुलिस महानिदेशक और पंजाब के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (सुरक्षा) को समिति का सदस्य बनाया है. पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय के रजिस्ट्रार जनरल भी इसमें सदस्य हैं और उनसे समिति के समन्वयक के तौर पर काम करने को कहा गया है।

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on telegram
Telegram
Trending