Zindademocracy

Uttar Pradesh : कानपूर में पड़ रही रिकॉर्ड तोड़ सर्दी, अब तक 6 लोगों ने गवाई जान उत्तर पश्चिम की बर्फीली हवाओं की वजह से ठण्ड इतनी ज़्यादा हो रही है।

कानपूर, उत्तर प्रदेश | उत्तर प्रदेश | UP के लगभग सभी जिलों में इस वक़्त रिकॉर्ड तोड़ ठण्ड पड़ रही है। इस बीच कानपुर में सर्दी और शीतलहर ने 20 वर्षों का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। उत्तर पश्चिम की ओर से यहां आ रही बर्फीली हवाओं ने परेशानी बढ़ा दी। रविवार के मुकाबले यहां सोमवार को अधिकतम तापमान 4 डिग्री सेल्सियस से भी ज्यादा लुढ़क गया। इस कड़ाके की सर्दी के कारण हार्ट अटैक और ब्रेन स्ट्रोक के मरीजों की संख्या में भी इजाफा हुआ है। इस कारण यहां छह लोगों की मौत हो चुकी है।

GSVM मेडिकल कॉलेज के हैलट अस्पताल के इमरजेंसी मेडिसन यूनिट में सोमवार शाम तक ब्रेन स्ट्रोक के 11 मरीज भर्ती किए गए। यहां यशोदा नगर निवासी 55 वर्षीय सलोनी मिश्रा सोमवार तड़के उठी तो बिस्तर से नीचे गिर गईं, बेहोशी की स्थिति में परिजन एलएलआर अस्पताल लेकर पहुंचे, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।

इसके अलावा 64 वर्षीय बजरिया निवासी ज्योति के शरीर के आधे हिस्से ने अचानक काम करना बंद कर दिया। इमरजेंसी में ब्रेन स्ट्रोक का इलाज शुरू होने से पहले ही उन्होंने दम तोड़ दिया। वहीं लाल बंगला निवासी 70 वर्षीय चुन्नीलाल के सीने में दर्द उठा और सांस फूलने लगी। उर्सला अस्पताल में डॉक्टरों ने उन्हें हृदयाघात से मृत घोषित कर दिया. इसी तरह ट्रांसपोर्ट नगर निवासी 60 वर्षीय शिव कुमार मौर्य को सीने में दर्द होने की शिकायत पर टाटमिल के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उनकी मौत हो गई है।

हृदय रोग संस्थान के निदेशक प्रोफेसर विनय कृष्ण ने अपनी रिपोर्ट में 2 मरीजों की मौत की पुष्टि की है। वहीं एलएलआर अस्पताल में कल देर शाम तक ब्रेन स्ट्रोक के 9 मरीज भर्ती हुए। उन्हें न्यूरोलॉजी विभाग में शिफ्ट कर दिया गया है। डॉक्टरों के मुताबिक, ठंड बढ़ने के कारण अनियंत्रित मधुमेह व ब्लड प्रेशर के मरीजों में ब्रेन स्ट्रोक की शिकायत बढ़ी है।

ठंड की बात करें तो 17 जनवरी में रिकॉर्ड हुई ठण्ड के आंकड़े बताते हैं की 20 वर्षों के बाद इतनी ठण्ड पड़ रही है। मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि अभी 22 जनवरी तक मौसम ऐसा ही बना रहेगा। CSA में विशेषज्ञ डॉक्टर सुनील पांडे की माने तो उत्तर पश्चिम की बर्फीली हवाओं की वजह से ठण्ड इतनी ज़्यादा हो रही है।

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on telegram
Telegram
Trending