Zindademocracy

UP Election 2022 : भाजपा में भगदड़ , दारा चौहान के बाद अब मंत्री धर्म सिंह सैनी का भी इस्तीफ़ा पिछले 72 घंटों में 3 मंत्री समेत 14 विधायक छोड़ चुके हैं भाजपा , सहकारता मंत्री मुकुट बिहारी भी दे सकते हैं इस्तीफ़ा

उत्तर प्रदेश में आचार संहिता लगते ही भाजपा के अंदर भगदड़ शुरू हो गयी है। स्वामी प्रसाद मौर्या के इस्तीफे के बाद पार्टी छोड़ कर जाने वालों की लाइन लग गयी है। इसी कड़ी में अब सरकार में आयुष मंत्री धर्म सिंह सैनी मंडल से इस्तीफ़ा दे दिया है। खबर यह भी है की सहकारता मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा भी इस्तीफ़ा दे सकते हैं। उनके सरकारी आवास को भी खाली करने की भी सूचना है।

इससे पहले भाजपा विधायक विनय शाक्य ने भी इस्तीफ़ा दे दिया था। शाक्य ने कहा कि, “स्वामी प्रसाद मौर्य शोषित पीड़ितों की आवाज हैं और वो हमारे नेता हैं और मैं उनके साथ हूं.”

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष को लिखे अपने इस्तीफे पत्र में शाक्य ने बीजेपी पर दलितों और पिछड़ों पर ध्यान न देने का आरोप लगाया। विधायक ने लिखा, “बीजेपी की प्रदेश सरकार द्वारा अपने पूरे 5 वर्षों के कार्यकाल के दौरान में दलित, पिछड़ों और अल्पसंख्यक समुदाय के नेताओं व जनप्रतिनिधियों को कोई तवज्जो नहीं दी गई और न उन्हें उचित सम्मान दिया गया.”

शिकोहाबाद के विधायक ने भी स्वामी प्रसाद मौर्य, दारा सिंह चैहान समेत अन्य विधायकों की तरह अपने पत्र में लिखा है कि बीजेपी सरकार में दलित, पिछड़े और अल्पसंख्यक समुदाय से ताल्लुक रखने वाले नेताओं को तवज्जों नहीं दी गई।

इसके पहले इन विधायकों ने पहले छोड़ी पार्टी:

1. राधा कृष्ण शर्मा, विधायक

2. राकेश राठौर, विधायक

3. माधुरी वर्मा, विधायक

4. जय चैबे, विधायक

5. स्वामी प्रसाद मौर्य, कैबिनेट मंत्री

6. भगवती सागर, विधायक

7. बृजेश प्रजापति, विधायक

8. रोशन लाल वर्मा, विधायक

9. अवतार सिंह भड़ाना, विधायक

10. दारा सिंह चैहान, कैबिनेट मंत्री

11. मुकेश वर्मा, विधायक

12. विनय शाक्य, विधायक

13. बाला प्रसाद अवस्थी

14. धर्म सिंह सैनी

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on telegram
Telegram
Trending