Zindademocracy

Shahdara Gang Rape: DCP ने मामले में किया बड़ा खुलासा, कई महीनों से आरोपियों से छिप रही थी पीढ़िता, कहा- 11 महिलाओं के अलावा अभी और होगी गिरफ्तारी ताया जा रहा है कि, इस दरिंदगी से पहले महिला पिछले कई महीनों से इन आरोपियों से छिप-छिपाकर अपनी जिंदगी जी रही थी।

नई दिल्‍ली : बुधवार को पूर्वी दिल्‍ली के शाहदरा इलाके में 20 साल की महिला के चेहरे पर कालिक पोत कर गले में जूतों की माला पहना कर पुरे मोहल्ले में घुमाने के मामले में अब कई बड़े खुलासे हुए है। बताया जा रहा है कि, इस दरिंदगी से पहले महिला पिछले कई महीनों से इन आरोपियों से छिप-छिपाकर अपनी जिंदगी जी रही थी।

आरोपियों ने महिला के मायके वालो को कई तरह की धमकी भी दी थी, जैसे घर जला देने, सरेआम बेइज्‍जत करने और जान से मारने तक की धमकी देते थे।वे बार-बार उसके घरवालों का पीछा करते और महिला के नए घर का पता बताने के लिए उन पर इस तरह दबाव बनाते थे, गंभीर बात यह है कि दिल्‍ली पुलिस खुद मान रही है कि आरोपी आपराधिक प्रवृति के हैं और कई पर पहले से मामले भी दर्ज हैं और गिरफ्तार भी हो चुके हैं।

कई आरोपियों की और होंगी गिरफ्तारी : डीसीपी शाहदरा
शाहदरा जिले के डीसीपी आर साथियासुंदरम (Shahdara district DCP R Sathiyasundaram) ने हिंदी न्यूज़ के चैनल से बातचीत में कहा कि इस मामले में हमने अभी तक कुल 11 आरोपियों को गिरफ्तार किया है, जिनमें ज्‍यादातर महिलाएं शामिल हैं। एक नाबालिग को भी हिरासत में लिया गया है. वह कहते हैं कि अभी हमारी पुलिस टीमें मामले में अन्‍य आरोपियों की पहचान में जुटी हैं और कई आरोपी फरार हैं, जिनकी गिरफ्तारी के लिए लगातार दबिश दी जा रही हैं। डीसीपी आर साथियासुंदरम ने आगे कहा कि इनमें आरोपियों में आपराधिक प्रवृति के लोग शामिल हैं. इनमें 5 से 6 आरोप‍ियों के खिलाफ से ही कई केस दर्ज हैं और उनकी गिरफ्तारी भी हो चुकी है. ये लोग अवैध रूप से शराब, नशीले पदार्थ बेचने के धंधे में लिप्‍त हैं।

क्या था मामला-
अब जानते हैं कि इस दिल दहला देने वाली घटना से पहले महिला किस खौफ के साए में अपनी जिंदगी गुजर-बसर कर रही थी. दरअसल, मामले की शुरुआत पिछले साल नवंबर से होती है, जब कस्तूरबा नगर के रहने वाले एक 16 वर्षीय नाबालिग लड़के ने कथित रूप से ट्रेन के आगे कूदकर खुदकुशी कर ली थी. इस घटना को लेकर नाबालिग लड़के के परिजन पीड़ित महिला को जिम्मेदार मानते थे।

उनका मानना था क‍ि लड़के ने इस महिला के चक्‍कर में कथित रूप से आत्‍महत्‍या की. पुलिस का कहना है कि महिला और नाबालिग के बीच दोस्ती थी और वे अक्सर मिला करते थे. नवंबर महीने में ही जब नाबालिग ने खुदकुशी की, उस वक्‍त पीड़ित महिला अपने मायके में रह रही थी. इसके बाद से ही आरोपी परिवारवाले इस महिला को गंभीर धमकियां दिया करते थे. इससे वह दहशत में थी।

पीड़िता की छोटी बहन ने बताया आप बीती-
पीड़िता की छोटी बहन ने अंग्रेजी अखबार TOI को बताया कि, आरोपियों ने उसकी बहन को धमकी दी थी कि वे उत्‍तर पूर्वी दिल्‍ली में उसके ससुराल वाले घर में आग लगा देंगे, जिसके बाद दहशत की वजह से पीड़ित महिला अपने पति और बच्चे के साथ कड़कड़डूमा के एक गांव में किराए का मकान लेकर रहने लगी थी. इसके बाद से आरोपी लगातार उसका नया पता तलाश कर रहे थे. इसके लिए वे बार-बार पीड़ित महिला के परिजनों को धमकाते, उन्‍हें सरेआम बेइज्‍जत करते और उनसे महिला का नया पता पूछते. वे महिला के अंधे चाचा के साथ धक्का-मुक्की करते. पीड़ित की एक महिला रिश्तेदार को सड़क पर घेरकर उसके बाल तक खींचे गए और गर्दन काटने की धमकी दी गई।

चोरी छुपे घर का पता लगाने के बाद किया दुष्कर्म-
पीड़िता महिला की छोटी बहन के अनुसार, बुधवार सुबह करीब 10.45 बजे वह अपनी बहन के घर बजे वह गेहूं लेकर निकली थी, इसके बाद से आरोपी चोरी-छिपके उसका पीछा करने लगे. जब वह कड़कड़डूमा गांव में अपनी बहन के किराए के कमरे पर पहुंची तो आरोपी भी उसके पीछे-पीछे पहुंच गए. तकरीबन आधा दर्जन महिलाएं और दो नाबालिग लड़कों ने पीड़ित महिला को जबरन अगवा किया और ऑटो में बैठकार उसकी रास्ते भर उसकी पिटाई करते हुए कस्तूरबा नगर ले गए, जहां उसे एक मकान में कैद कर लिया गया. आरोप है कि आरोपी महिलाओं ने दो नाबालिग और एक अन्य लड़के को महिला के साथ कमरे में दरिंदगी के लिए उकसाया. बंद कमरे में तीनों ने उसके साथ दरिंदगी को अंजाम दिया और अप्राकृतिक सेक्‍स तक किया. प्राइवेट पार्ट में मिर्ची तक डाल दी गई।

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on telegram
Telegram
Trending