Zindademocracy

Russia Ukraine Conflict : नई एडवाइजरी हुई जारी, भारतियों को लाने के लिए पडोसी देश पहुंची फ्लाइट भारत यूक्रेन के पड़ोसी देश - पोलैंड, रोमानिया, हंगरी और स्लोवाक रिपब्लिक के जरिये भारतीय नागरिकों की वापसी सुनिश्चित करने की कोशिश कर रहा है।

नई दिल्ली | भारत यूक्रेन में फंसे भारतीयों को वापस लाने के लिए यूक्रेन के पड़ोसी देशों- रोमानिया और हंगरी से मदद ले रहा है। रूस के हमले के बाद यूक्रेन की सभी एयरस्पेस में ताला लगा दिया गया था। यही वजह है की अब वहाँ कोई भी फ्लाइट नहीं जा सकती। वहाँ फसे भारतियों की सहायता करने के लिए हारता सरकार अब पडोसी देशों की मदद ले रही है। इसी रेस्क्यू ऑपरेशन के तहत एयर इंडिया की स्पेशल फ्लाइट AI-1943 रोमानिया के बुचारेस्ट पहुंच गई है।

भारत यूक्रेन के पड़ोसी देश – पोलैंड, रोमानिया, हंगरी और स्लोवाक रिपब्लिक के जरिये भारतीय नागरिकों की वापसी सुनिश्चित करने की कोशिश कर रहा है। इसके लिए विदेश मंत्रालय ने यूक्रेन बॉर्डर पर टीम भी भेजी है, जो भारतीय नागरिकों से को-ऑर्डिनेट करेंगी।

द इंडियन एक्सप्रेस की रिपोर्ट के मुताबिक, बुचारेस्ट से फ्लाइट लोकल टाइम में 11:30 बजे लौटेगी। दिल्ली से बुडापेस्ट के लिए निकली फ्लाइट उधर से दोपहर 1:15 बजे लौट सकती है। रिपोर्ट के मुताबिक, सरकारी अधिकारी ने कहा कि 256 सीटों वाले बोइंग 787 विमान में वंदे भारत मिशन के तहत फ्लाइट्स संचालित की जाएंगी।

यूक्रेन में भारतीय दूतावास ने 25 फरवरी को जानकारी दी थी कि करीब 470 स्टूडेंट्स Porubne-Siret बॉर्डर के जरिये यूक्रेन से निकलकर रोमानिया में प्रवेश करेंगे।

भारत सरकार ने दिया निर्देश !
कीव में भारतीय दूतावास ने भारतीय नागरिकों और स्टूडेंट्स से बिना भारत सरकार के अधिकारियों से को-ऑर्डिनेट किए, बॉर्डर की तरफ निकलने से मना किया है।

एडवाइजरी में भारतीय दूतावास ने कहा – “यूक्रेन में सभी भारतीय नागरिकों को सलाह दी जाती है कि वो बॉर्डर पोस्ट पर भारतीय अधिकारियों से को-ऑर्डिनेट किए बिना बॉर्डर की तरफ न निकलें. कई बॉर्डर चेकप्वाइंट्स पर हालात संवेदनशील हैं और हमारी एंबेसी पड़ोसी देशों में भारतीय एंबेसी के साथ मिलकर नागरिकों को सुरक्षित निकालने के लिए लगातार काम कर रही है.”

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on telegram
Telegram
Trending