Zindademocracy

ALWAR RAPE CASE: CM अशोक गहलोत ने CBI को सौंपा जांच का ज़िम्मा, उच्च स्तरीय बैठक में लिया बड़ा फैसला घटना हुए पुरे 5 दिन बीत चुके है, लेकिन राजस्थान पुलिस अभी तक आरोपियों तक नहीं पहुंच पाई है।

जयपुर | राजस्थान के अलवर जिले में मूकबधिर मासूम बच्ची के साथ हुई दुष्कर्म के मामले में अब सरकार ने जांच का ज़िम्मा CBI को देने का निर्णय लिया है, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट कर इस बात की जानकारी दी। मामले में अभी तक राजस्थान पुलिस किसी भी आरोपी को पकड़ने में नाकाम रही है, जिसके चलते सरकार ने रविवार को सीएम अशोक गहलोत की अध्यक्षता में हुई उच्च स्तरीय बैठक में यह निर्णय लिया गया।

बता दे कि, घटना हुए पुरे 5 दिन बीत चुके है, लेकिन राजस्थान पुलिस अभी तक आरोपियों तक नहीं पहुंच पाई है। इस मामले में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने एक दिन पहले ही कहा था कि, अगर पीड़िता का परिवार चाहेगा तो वह मामले की जांच CID या CBI या किसी भी स्वतंत्र एजेंसी से कराने को तैयार हैं, जिसके बाद दो दिन पहले पीड़िता के चाचा ने कहा था हमे इंसाफ चाहिए।

पीड़िता की बहन ने की CBI जाँच की मांग-
दरिंदगी से पीड़ित मानसिक रूप से विकलांग नाबालिग की बड़ी बहन ने भी मामले में जांच CBI से कराने की मांग की थी। इस मामले में पीड़िता की बड़ी बहन ने कहा, “मेरी बहन के साथ बहुत गलत हुआ है. घटना के बाद एसपी ने न्याय दिलाने की बात कही थी लेकिन वह लगातार अपनी बात से बदल रही हैं. पुलिस प्रशासन बोल रहा है कि यह हादसा है, ऐसा कैसे हो सकता है.”

मेरे बहन के साथ हुआ गलत: पीड़िता की बड़ी बहन
पीड़िता की बड़ी बहन ने शनिवार को मीडिया के सामने कहा था, “मेरी छोटी बहन के साथ बहुत गलत हुआ है. घटना के बाद पुलिस अधीक्षक गांव पहुंचीं. उस समय एसपी से कहा कि हमें न्याय चाहिए तो उन्होंने ने कहा कि मैं न्याय दिलवाऊंगी. उसके बाद माता-पिता जब जयपुर पहुंचे तो मेरी बहन की हालत गंभीर थी. उस समय भी डॉक्टर ने कहा कि यह गलत गलत हुआ है. गैंगरेप की बात कही गई. पूरे अखबारों व मीडिया में यह मामला सामने आया. पुलिस प्रशासन लगातार बयान देता रहा. अचानक पुलिस प्रशासन अपना बयान चेंज रहा है. पूरे मामले को हादसे का रूप दिया जा रहा है जो पूरी तरह गलत है. हमें न्याय चाहिए.”

बीजेपी करेगी आंदोलन
बीजेपी इस मामले को लेकर आंदोलन से पीछे नहीं हटेगी. उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने कहा कि जन दबाव के कारण सरकार को झुकना पड़ा. सीबीआई जांच होगी तो अपराधी पकड़े जाएंगे. प्रदेश में गृहमंत्री नहीं है इसलिए दुर्दांत अपराधी भी पकड़े नहीं जा रहे हैं. प्रतिपक्ष ऐसी घटनाओं पर मूकदर्शक नहीं रह सकता. एसपी के बयानों ने संदेह पैदा किया है. हमारा आंदोलन जारी रहेगा. उपखंड मुख्यालय पर सोमवार को ज्ञापन देंगे।

Share on facebook
Facebook
Share on twitter
Twitter
Share on whatsapp
WhatsApp
Share on telegram
Telegram
Trending